4 महीने से ज्यादा समय बीतने के बाद भी नहीं आई फाईनल रिर्पोट, जांच में हो रही देरी को लेकर सीएमओ से मिले परिजन

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma)   जिला अस्पताल द्वारा गठित नेग्लीजेंसी जांच बोर्ड में चल रही क्यूआरजी अस्पताल के डॉक्टर प्रबल रॉय व उनकी टीम के द्वारा ईलाज में लापरवाही से मरीज (भगवत दयाल) की मौत मामले में लभगभ 4  महीने से ज्यादा समय बीतने के बाद भी अभी तक कोई फाईनल रिर्पोट न मिलने के कारण परिजनों में रोष हैं। जिसको लेकर पीडि़त परिजन सिविल सर्जन फरीदाबाद से मिले और जांच प्रक्रिया में तेजी लाकर जल्द से जल्द रिर्पोट देने की गुहार लगाई। सीएमओ फरीदाबाद ने पीडि़त परिजनों को आश्वासन देते हुये कहा कि वह स्वयं इस विषय पर संज्ञान लेते हुये जांच में हो रही देरी के कारणों का पता लगाकर जांच प्रक्रिया को आगे बढाऐंगे।
भरतलाल शर्मा ने बताया कि लगभग साढे ४ महीने बीतने के बाद भी अभी तक जिला अस्पताल द्वारा बनाये गये नैग्लीजेंस जांच बोर्ड के द्वारा इस मामले में कोई फाईनल रिर्पोट नहीं दी गई है। जिसे लेकर वह फरीदाबाद सिविल सर्जन से मिले और मामले से उन्हे अवगत कराया और एक लिखित ऐप्लीकेशन देकर जांच प्रक्रिया में तेजी लाने की गुहार लगाई।

गौरतलब है कि 1 नंबर 2019 को भगवत दयाल, श्याम नगर, पलवल निवासी अपनी पथरी के ऑपरेशन के लिए सेक्टर-16 क्यूआरजी अस्पताल में गये थे जिनका डॉक्टर प्रबल रॉय व उनकी टीम ने ऑपरेशन किया था। ऑपरेशन में डॉक्टरों ने गालब्लेडर तो निकाल दिय पर पथरी नली में फंस जाने की बात कही। बाद में मरीज की तबीयत खराब हो जाने के बाद डॉक्टरो ने भगवत दयाल की ओपन सर्जरी कर डाली जिसके बाद मरीज वेंटिलेटर पर चला गया। अस्पताल प्रबंधन और डॉक्टर से पूछने के बाद भी मरीज के विषय में नहीं बताया गया। 5 नवंबर शाम को डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया था। मामले में फरीदाबाद जिला अस्पताल द्वारा गठित नेग्लीजेंसी जांच बोर्ड में क्यूआरजी अस्पताल के डॉक्टर प्रबल रॉय व उनकी टीम पर फिलहाल अभी जांच चल रही है।

Tags

Related posts

*

*

Top