MCF अधिकारी एनआईटी क्षेत्र में अवैध निर्माण करा कूट रहे हैं चांदी और सरकार को हो रहा है करोड़ों के राजस्व का नुकसान, सीएम फ्लाइंग ने रिपोर्ट भेजी

फरीदाबाद एनआईटी क्षेत्र हमेशा अवैध निर्माणों को लेकर चर्चा में रहा है फिर चाहे वह कमर्शियल एक्टिविटी हो यहां इंडस्ट्रियल

लेकिन इस बार तो इतना बड़ा कमाल हो गया कि इतने बड़े विशालकाय इंडस्ट्रियल एरिया का निर्माण हो रहा है और फरीदाबाद नगर निगम के निगम कमिश्नर यश गर्ग को इसकी खबर तक नहीं है.
जिसके चलते नगर निगम के तत्कालीन और अभी रहे अधिकारी अपनी चांदी कूट रहे हैं और इस तरह के इतने विशालकाय अवैध इंडस्ट्रियल एरिया के डिवेलप होने से सरकार को राजस्व का नुकसान हो रहा है.
सेक्टर 49 में आसाराम चौक पर इस इंडस्ट्रियल एरिया में एक नहीं दो नहीं सैकड़ों ऐसे अवैध निर्माण हो रहे हैं जिसमें ना ही किसी प्रकार का नक्शा पास किया गया है और ना ही किसी प्रकार का कोई टैक्स सरकार को दिया गया है हां इन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को उनका टैक्स जरूर दे दिया है जिसके चलते इनके संरक्षण में इतने बड़े पैमाने पर इस तरह के अवैध निर्माण हो रहे हैं
सबसे बड़ी बात यह है कि यह मामला आलाकमान तक जा पहुंचा है और सीएम फ्लाइंग इसकी एक रिपोर्ट बनाकर पहुंचा दी गई है जिससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि प्रतिवर्ष नगर निगम फरीदाबाद को करीब 100 करोड़ रुपए का रिवेन्यू लॉस हो रहा है जो यह भ्रष्ट अधिकारी अपनी जेबों में भर रहे हैं.
मौजूदा अधिकारियों का कहना है कि पिछली पोस्टिंग वाले अधिकारी सारा माल डकार गए हैं और उन्हें इसकी भनक भी नहीं है लेकिन वह कोशिश कर रहे हैं कि इस तरह के निर्माणों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए

इस मुद्दे को लेकर जब हमने नगर निगम कमिश्नर यश गर्ग से बात करनी चाहिए तो वह अपने कार्यालय पर नहीं मिले क्योंकि कोरोना पॉजिटिव मामले मिलने के कारण ज्यादातर अधिकारी नहीं मिल रहे हैं लेकिन अब देखना होगा कि आने वाले वक्त में ईमानदार छवि के नगर निगम कमिश्नर यश गर्ग इस पर क्या संज्ञान लेंगे और इस तरह के निर्माण पर अपना क्या पक्ष रखेंगे

Tags

Related posts

*

*

Top