मनोहर सरकार का बेडा गर्क करने में लगे है ये चौधरी अफसर !

पार्ट 1
zeeharyana.com/Narender Sharma : उत्तर प्रदेश में जहब भाजपा की प्रचंड बहूमत से सरकार बानी और अफसरशाही बड़े ही दुरुस्त तरीके से ट्रैक पर आ गयी। इसमे वहां के मुख्यमंत्री योगी जी की अहम् भूमिका रही है। लेकिन जब हरियाणा की बात करे तो यहाँ पर एक विशेष जाती का मुख्यमंत्री रहा है और जब ईमानदार मनोहर लाल सरकार ने कार्यभार सम्भाला था तो हरियाणा में एक नए युग की शुरुआत माना गया और होता भी ऐसे ही क्योकि हरियाणा के मुख्यमंत्री की ईमानदारी पर शक नहीं किया जा सकता मगर कुछ विशेष जाती के बड़े बड़े अधिकारियों को ये बात रास नहीं आयी और वो इस सर्कार के ईमानदार मुख्यमंत्री को पच नहीं पा रहे है।
ऐसे ही एक भ्रष्ट अधिकारी जो एक विशेष पद पर सांप की तरह कुंडली मार कर बैठा है। जिसके अधिकार क्षेत्र में साड़ी ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी के साथ साथ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन आदि भी आती है। इस अफसर पर शक होना इसलिए लाज़मी है क्योकि इसने यहाँ पर करीब 15 साल बिताये और प्रमोशन नहीं ली। क्योकि यहां मलाई की बहार है। जैसे अम्बर बेल हरे भरे वृक्ष को सुख देती है वैसे ही जिस सोसाइटी पर इसकी काली नज़र पड़ जाए उसके बुरे दिन शुरू हो गए मानो। वो सोसाइटी इसके लिए दूध देने वाली कामधेनु गाय बन जाती है जब जरुरत होती है बस एक लेटर इशू करता है और सुविधा शुल्क पहुँच जाता है। हालांकि जल्द ही इसके पाप का घड़ा भरने की उम्मीद है एक आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता ने इसके खिलाफ RTI लगाई थी जिसका इसने जवाब देना तक मुनासिव नहीं समझ , मगर जब उस आप कार्यकर्ता की स्टेट में एप्लिकेशन अप्रोव हो गयी और अब खिस्यानी बिल्ली की तरह खम्बा नोचने में लगे इस चौधरी अफसर ने ऐसे केस में एक नोटिस भेज है जो काम 2015 का था। इसके बाद 3 RWA /ad hoc बॉडी चेंज हो चुकी है लेकिन अपनी भड़ास निकालने के लिए उसने उन्हें 5000 रुपए के फाइन का नोटिस भेज दिया। ये मामला मुख्यमंत्री के संज्ञान में भी आ गया है लेकिन अब देखना है की इस चौधरी अफसर की चौधराहट कितने दिनों की और है।
जल्द ही हम इसके नाम के साथ खुलासा करेंगे और बताएँगे की किन किन ग्रुप हाउसिंग , मंदिर कमेटी , इंडस्ट्रीज से सुविधा और शुल्क दोनों वसूले।

Tags

Related posts

*

*

Top