विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में मनाया गया टीचर्स डे!

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma) विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल, तिगांव में टीचर्स डे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। प्रतिवर्ष पांच सितंबर को टीचर्स डे मनाया जाता है। इस दिन बच्चे हों चाहे बड़े सभी अपने गुरु के प्रति सम्मान प्रकट करते हैं। इस अवसर को और अधिक विशेष बनाने के लिए विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के छात्रों ने अपने शिक्षकों को समर्पित अनेक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव ने कहा कि प्राचीन काल में यह मान्यता थी कि बिना गुरू के ज्ञान नहीं होता और हो भी जाए तो वह फल नहीं देता। यह मान्यता कुछ हद तक सही भी थी, क्योंकि व्यक्ति जो कुछ पढ़ता है उससे उसे मात्र शब्द ज्ञान प्राप्त होता है अर्थ ज्ञान नहीं। अर्थ ज्ञान के लिए ही व्यक्ति को शिक्षक की आवश्यकता होती है। अर्थ ज्ञान के अभाव में मनुष्य उस तरह होता है, जो अपने पीठ पर लदे चंदन की लकड़ी के भार को जानता है, लेकिन चन्दन को नहीं जानता। भारत-शिक्षा के लिए प्राचीन काल से ही विश्व प्रसिद्ध रहा है। श्री यादव ने कहा कि संसार परिवर्तनशील है। मान्यताएं बदलती हैं और ध्वस्त होती हैं। लेकिन शिक्षा की आवश्यकता व्यक्ति को जीवन भर पड़ती है जिस प्रकार माली पौधे की कांट-छांट करके उसे सुन्दर बनाता है, उसी प्रकार शिक्षक भी अपने विद्यार्थियों के दुर्गुणों को दूर कर उनमें सद्गुणों का विकास कर उन्हें उच्च पद पर बैठाता है। जैसे कि चाणक्य ने अपने शिष्य चन्द्रगुप्त को सम्राट बनाया था। इसलिए गुरू ब्रह्म, विष्णु और महेश के समान पूज्यनीय है।
स्कूल के डॉयरेक्टर दीपक यादव ने कहा कि शिक्षक, नेता, विचारक, दार्शनिक के रूप में सफलता प्राप्त करने वाले भारत के द्वितीय राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन थे। राष्ट्रपति बनने के पश्चात् उनके कुछ शिष्यों और कुछ करीबी लोगों के उनसे अपना जन्मदिन मनाने का आग्रह किया जिस पर उन्होंने यह कहा कि उन्हें खुशी होगी यदि उनका जन्मदिन सभी शिक्षकगणों के योगदान के लिए उनका आभार व्यक्त करते हुए मनाया जाए। तभी से डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन को हमारे देश में शिक्षक दिवस के रूप में मनाते हैं।
इस मौके पर स्कूल के सभी छात्र कार्यक्रम में शामिल हुए। छात्रों ने बताया कि किस तरह वे शिक्षकों के मार्गदर्शन से वह जीवन में आगे बढ़ रहे हैं। ऐसे छात्र जो लेखन में बेहद अच्छे थे उन्होंने अपना लिखा हुआ लेख अपने शिक्षकों के सम्मान में प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के उपरांत शिक्षकों को उनके सराहनीय कार्यों के लिए सम्मानित किया गया। टीचर्स डे के खास मौके पर स्कूल के डायरेक्टर दीपक यादव ने कोर्डिनेटर योगेंद्र चौहान को पद्दोनत करके वाइज प्रिंसिपल नियुक्त किया। इस अवसर पर स्कूल के एकेडमिक डॉयरेक्टर सीएल गोयल, शम्मी यादव व अन्य गणमान्य शिक्षकों के साथ अभिभावक भी उपस्थित थे।
Tags

Related posts

*

*

Top