पालिका, परिषदों व निगमों के कर्मचारियों ने फरीदाबाद भविष्य निधि आयुक्त कार्यालय के समक्ष जोरदार धरना दिया।

फरीदाबाद : ( zeeharyana.com/Sunita Sharma)  हरियाणा प्रदेश के 10 नगर निगमों, 16 नगरपरिषदों व 54 नगरपालिकाओं में आऊटसोर्सिंग, ठेकाप्रथा के माध्यम से विभिन्न पदों पर कार्यरत लगभग साढ़े पन्द्रह हजार कर्मचारियों के वेतन से प्रतिमाह ईपीएफ की राशि कटौती करने के बाद कर्मचारियों के खातों में जमा नहीं करवाई जा रही है। इस मांग को लेकर नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा लगातार आन्दोलनरत है। संघ ने लम्बा संघर्ष करके 10 जुलाई को एक पत्र भी जारी करवाया है। जिसमें सरकार द्वारा पालिका, परिषदों व
निगमों के अधिकारियों को 15 दिन के अंदर-अंदर सभी आऊटसोर्सिंग और ठेकाप्रथा के कर्मचारियों के खातों में ईपीएफ की राशि जमा करवाने व ईएसआईसी का मेम्बर बनाने के आदेश दिए थे, लेकिन पालिका, परिषदों व निगमों के अधिकारियों ने इन आदेशों की पालना नहीं की है। वहीं भविष्य निधि विभाग द्वारा भी पालिका, परिषदों व निगमों के दोषी अधिकारी व ठेकेदारों के खिलाफ कार्यवाही नहीं की जा रही है। इससे नाराज पालिका, परिषदों व निगमों के कर्मचारियों ने नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के आह्वान पर  फरीदाबाद भविष्य निधि आयुक्त कार्यालय के समक्ष जोरदार धरना दिया। पालिका, परिषदों व निगमों के कर्मचारियों ने इस धरने में नगर निगम फरीदाबाद, नगरपरिषद पलवल, होडल व नगरपालिका हथीन के सैकड़ों कर्मचारियों ने भाग लिया। यह कर्मचारी सुबह से ही भविष्य निधि आयुक्त कार्यालय पर इकट्ठा होने लगे और जोरदार धरना देते हुए प्रदर्शन करते हुए भविष्य आयुक्त को ज्ञापन सौंपा।

आज के धरने की अध्यक्षता सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, जिला सचिव नानकचंद, वरिष्ठ उपप्रधान गुरचरण खाण्डिया, परशराम अधाना, चालक यूनियन से वेद भड़ाना, सीवर यूनियन के प्रधान सुभाष फेंटमार, राजू, संजय भाटी व रणजीत शुक्ला ने किया। पलवल से प्रताप, राजा, होडल से राज, हथीन से दीपक टांक भी उपस्थित थे। कर्मचारियों को संबोधित करते हुए नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य सचिव सुनील कुमार चिन्डालिया ने कहा कि प्रदेश की पालिका, परिषदों व निगमों में ठेकाप्रथा में कार्यरत साढ़े पन्द्रह हजार कर्मचारियों के वेतन से ईपीएफ की राशि काटने के बाद उनके खातों में जमा न करके ठेकेदार व विभागीय अधिकारी करोड़ों रूपए डकार रहा है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार भविष्य निधि विभाग की ईमानदारी से जांच करें तो अब तक का सबसे बड़ा घोटाला साबित होगा। श्री चिन्डालिया व सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर ने चेतावनी दी है कि अगर कर्मचारियों के खातों में ईपीएफ की राशि 15 दिन के अंदर जमा नहीं कि तो तथा ईएसआईसी का मेम्बर नहीं बनाया गया तो ईपीएफ व ईएसआईसी फरीदाबाद कार्यालय पर अनिश्चिकालीन धरना शुरू कर दिया जायेगा। जिसकी पूर्ण रूप से जिम्मेवारी सरकार व प्रशासन की होगी।

आज की सभा में अन्य के अलावा वरिष्ठ उपप्रधान श्रीनंद ढकोलिया, कैशियर सुदेश कुमार, जितेन्द्र छाबड़ा, महेन्द्र कुडिया, रघुबीर चौटाला, बल्लू चिन्डालिया, कृष्ण चिन्डालिया, देविन्द्र मंझावली, धर्म सिंह, प्रेमपाल, ममता, कमलेश, माया देवी, महेश, शकुन्तला, राजबीर चिन्डालिया, विरेन्द्र भंडारी, रविन्द्र टांक, रोहित, रामजीलाल, सुनीता, रामवती, बीना आदि ने भी सम्बोधित किया।

Tags

Related posts

*

*

Top