हरियाणा विश्वविदयालय ने किया सूरज कुंड में आये देश विदेश के कौशल कुशागरों को सम्मानित।

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma) सूरजकुंड के समापन समारोह में देश विदेश से आए  विभीन्न कारीगरों को समानित कर  कौशल विश्वविदयालय के लक्ष्य कौशल को विश्व पटल पर आकांक्षित बनाने के अपने लक्ष्य को दोहराया। राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, हरियाणा टूरिज्म मंत्री राम विलास शर्मा, टूरिज्म मंत्री उत्तर प्रदेश रीता बहुगुणा तथा डॉ सुनील गुप्ता रजिस्ट्रार कौशल विश्विद्यालय ने लगभग 27 कारीगरों को सम्मानित किया । पुरुस्कार राशि व सम्मान चिन्ह हरियाणा कौशल विश्विद्यालय की और से थे।
कुलपति राज नेहरू ने बधाई संदेश भेजा तथा बताया कि यूनिवर्सिटी का लक्ष्य स्किल एजुकेशन को शिक्षा व सम्मान की दृष्टि से विश्व स्तर पर गर्वित करना है।
प्रधान मंत्री के लक्ष्य एक कुशल भारत एक सशक्त भारत की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए हरियाणा सरकार ने देश के पहले कौशल विश्वविद्यालय  ” हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय”  की घोषणा की विश्वविद्यालय का उद्देश्य उद्योग की मौजूदा और उभरते हुए क्षेत्रों में मांग अनुसार युवाओ को   संरचित कौशल योग्यता कार्यक्रम प्रदान करना है। इसके सभी  कार्यक्रम राष्ट्रीय कौशल योग्यता ढांचे (एनएसक्यूएफ़) के साथ मैप किए जा रहे है जो प्रमाण पत्र से डॉक्टरेट स्तर तक ऊपर की ओर गतिशीलता की सुविधा प्रदान करेंगे।
एग्जीक्यूटिव कौंसिल द्वारा विशेष रूप से सरहानीय मास्टर प्लान के तहत यूनिवर्सिटी   157 कार्यक्रमों और12000 की एक सेवन क्षमता वाले एक अत्याधुनिक विश्वविद्यालय के रूप में तैयार होगा  । विश्वविद्यालय का निर्माण दुधौला जिला पलवल में  82.7 एकड़ जमीन पर किया जाएगा जिसमें 960 करोड़  निवेश होगा एचवीएसयू छात्रों के रोजगार कुशल और स्व रोजगार  बनाने के लिए उद्योग के साथ एक मजबूत साझेदारी का निर्माण करने का प्रयास करता है। विश्वविद्यालय परिसर में एक जीवित प्रयोगशाला स्किलिंग मॉडल की अवधारणा को दर्शायेगा छात्रों को बेहतर अवसरों के लिए  तैयार करने के लिएविश्वविद्यालय ने उद्योग एकीकृत दोहरी शिक्षा मॉडल को डिज़ाइन और  विकसित किया है जो “सीखने के दौरान कमाने” की सुविधा भी  देता है और छात्रों को प्रवेश और निकास के लचीलेपन के साथ अपनी योग्यता बढ़ाने के अवसर प्रदान करता है।
एचवीएसयू ने  अपने थोड़े ही समय में  कुलपति राज नेहरू के नेतृत्व में उद्योग की आकांक्षाओं, क्षेत्रों, संगठनों और संस्थानों के सर्वोत्तम अभ्यासों तथा राज्य के युवाओं की आकांक्षाओं  का अध्ययन करके एक विज़न डॉक्यूमेंट तैयार किया जो यूनिवर्सिटी का  उद्देश्य, प्राथमिकताएं और कौशल रोडमैप को दर्शाता है
यूनिवर्सिटी ने मात्र एक वर्ष से भी कम कार्यकाल में कुलपति राज नेहरू के नेतृत्व में न केवल राज्य में अपीतु देश विदेश में भी विशेष ख्याति अर्जित की है
एचवीएसयू ने उद्योग की आकांक्षाओं, क्षेत्रों, संगठनों और संस्थानों के सर्वोत्तम अभ्यासों तथा राज्य के युवाओं  की आकांक्षाओं का अध्ययन कर एक वृहद्  विज़न डॉक्यूमेंट तैयार किया जो कौशल प्रशिक्षण का उद्देश्य, प्राथमिकताएं और कौशल रोडमैप को दर्शाता यूनिवर्सिटी ने हीरो मोटोकॉर्प के सहयोग से देश में अपनी तरह के पहले स्नातक स्तर के प्रोग्राम की शुरुआत की जिसके तहत पहले सत्र के ५३ विद्यार्थी इंडस्ट्री फ्लोर पे प्रशिक्षण के साथ साथ शिक्षा भी ग्रहण कर रहे है  यह कार्यकर्म  पूर्ण रूप से NSQF संरेखित है इसमें विद्यार्थी सीखो और कमाओ के तहत ९५०० रूपए प्रतिमाह स्टिपेन्ड भी पा रहे  है इसका सिलेबस भी इंडस्ट्री के साथ मिलकर दिसेगन किया गया है
केंद्रीय मंत्री कौशल  व उद्धयमिता विकास धर्मेंद्र प्रधान ने इन प्रयासों के राज नेहरू की विशेष सराहना की है  यूनिवर्सिटी अर्नेस्ट यंग के सहयोग से देश के अन्य सभी कौशल विश्विद्यालयों के लिए इंडस्ट्री संयोजित दोहरी शिक्षा प्रणाली पर एक प्रक्रिया पुस्तिका भी तैयार कर रही है
यूनिवर्सिटी के मूल रूप से दो मॉडल होंगें एक कैंपस आधारित तथा दूसरा ऑफ कैंपस आधारित मॉडल में यूनिवर्सिटी परिसर में जीवंत कार्यशालाओं का निर्माण किया जायेगा जो आने वाले समय की रेवोलुशन 4.0 की मानगो के अनुरूप वर्चुअल तथा ऑगमेंटेड लर्निंग, आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस व केंद्रीकृत क्रेडिट आधारित व्यावसायिक स्किलिंग (MOOCS) डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म से सुसज्जित होगा
एचवीएसयू ने अब तक लगभग ५० से अधिक विभिन्न संगठनों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं यूनिवर्सिटी में अब तक 150 से अधिक छात्रों को विभिन्न कार्यक्रमों जिनमें मोटर वाहन मेक्ट्रोनिक्स, मोटर वाहन विनिर्माण, साइबर सुरक्षा, जीएसटी सहायक और संचार कौशल आदि प्रमुख है  में नामांकित किया गया है  और मई2018 तक 200  छात्रों के लिए  विभिन्न उद्योग समेकित कार्यक्रमों की घोषणा करने वाली है जिसमें रोबोटिक्स, टूल एंड ढाई, औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स,  पल्स्टिक टेक्नोलॉजी एंड फ़ूड टेक्नोलॉजी आदि शामिल है
हरियाणा के युवाओं को न केवल देश अपितु विदेश में भी रोजगार तथा स्व रोजगार के बेहतरीन अवसरों के लिए प्रशिक्षित करने की दृष्टि से कुलपति राज नेहरू ने NOCN जैसी विभिन्न संस्थाओं से इन कार्यकर्मो को अंतररास्ट्रीय कार्य मापदंडो के अनुरूप भी रेखांकित करवाने के लिए कई महत्वपूर्ण प्रयास आरम्भ किये है
इस के अलावा कौशल शिक्षा आकांक्षी बनाने के लिए भी विश्वविद्यालय  प्रयास रत  है । एचवीएसयू ने सूरज कुंड मेले में कारीगर पुरस्कार प्रायोजित करने का उदेश्य कौशल शिक्षा के प्रति जागरूकता तथा सोच बदल कर इसे राष्ट्रीय स्तर पर महत्वकांक्षी बनाना है विश्विद्यालय वर्ल्ड स्किल 2019, कज़ान रूस के लिए हरियाणा कौशल विकास मिशन द्वारा आयोजित  इंडिया स्किल   हरियाणा के 2018 के  नॉलेज पार्टनर के रूप में योगदान दे रहा है
Tags

Related posts

*

*

Top