असहाय महिलाओं को स्वावलंबी बनाने का प्रयास

पलवल : (zeeharyana.com/Sunita Sharma)  कल्याण विभाग द्वारा शुरू की गई सिलाई प्रशिक्षण की योजना असहाय एवं जरूरतमंद महिलाओं के लिए काफी मददगार साबित हो रही है। जिले में सैंकड़ों महिलाएं ऐसी हैं, जो प्रशिक्षण के बाद सिलाई मशीन से अपने परिवार का लालन-पालन करने में सक्षम बन रही हैं। उपायुक्त मनीराम शर्मा व अतिरिक्त उपायुक्त अंजू चौधरी ने वीरवार को लघु सचिवालय स्थित सभागार कक्ष में जिले की 25 महिलाओं को प्रशिक्षण के उपरांत इलैक्ट्रिक ऑटोमैटिक सिलाई मशीन और प्रमाण पत्र वितरित किए। महिलाओं ने बताया कि यह महज मशीन ही नहीं है बल्कि उनके लिए परिवार चलाने व स्वावलंबी बनाने में सहायक सिद्ध होगी।

लघु सचिवालय में सिलाई मशीन वितरित करते हुए उपायुक्त मनीराम शर्मा ने कहा कि सिलाई प्रशिक्षण महिलाओं को स्वरोजगार प्रदान करता है। इससे महिलाएं आत्मनिर्भर बनती हैं। महिलाओं को ऐसे रोजगार अपनाने चाहिए, जिससे कि वे दूसरों पर निर्भर न रहें। इस दौरान तहसील कल्याण अधिकारी जयपान हुड्डा, सुपरवाइजर संतोष देवी, सांख्यिकी सहायक मोनिका मौजूद थी।

तहसील कल्याण अधिकारी जयपान हुड्डा ने बताया कि कल्याण विभाग द्वारा लड़कियों को नि:शुल्क एक वर्ष का सिलाई प्रशिक्षण दिया जाता है। प्रशिक्षण पूर्ण होने के उपरांत प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी को एक सिलाई मशीन व प्रमाण-पत्र दिया जाता है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी को 600 रुपये प्रतिमाह छात्रवृति दी जाती है तथा प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी को 3100 रुपये कपड़े के लिए व 150 रुपये मैटीरीयल के लिए वार्षिक दिए जो हैं। ताकि कोई प्रशिक्षणार्र्थी बेरोजगार न रह सके और अपनी आजीविका कमा सके। उन्होंने बताया कि यह योजना बहुत कारगर साबित हुई है, जिसमें महिलाएं अपने परिवार को सुचारू रूप से चला रहीं हैं।

Tags

Related posts

*

*

Top