सिलोखरा मेें विकास का शुभांरभ 360 गांवों की पंचायत की जीत

 गुडग़ांव : (zeeharyana.com/Sunita Sharma)  सिलोखरा के विकास की मांग को लेकर पिछले करीब साल भर से आंदोलन कर रहे यहां के नागरिकों के 360 गांवों की सोमवार को जीत हुई। विकास से पूर्व भाजपा कार्यालय का निर्माण न होने देने की चेतावनी और शिलान्यास स्थल पर धरना देने का ऐलान करने के बाद शासन और प्रशासन हरकत में आया और रविवार को ही देर रात मुख्यमंत्री मनोहर लाल को जिला उपायुक्त को निर्देश जारी करना पड़ा कि सिलोखरा के विकास का शुभारंभ भाजपा कार्यालय के पूर्व किया जाए। इस आदेश से जिला उपायुक्त ने देर रात आंदोलन का नेतृत्व कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता व कांग्रेस कमेटी हरियाणा के प्रदेश सचिव डा. मुकेश शर्मा को अवगत कराते हुए कहा कि भाजपा कार्यालय के शिलान्यास से एक घंटे पूर्व प्रशासन द्वारा वहां विकास कार्यों का शुभारंभ किया जाएगा। ऐसा हुआ सुबह 6 बजे जिला उपायुक्त डा. विनय प्रताप सिंह मौके पर पहुंचे ओर उन्होंने हवन पूजन के साथ सामुदायिक भवन के निर्माण व तालाब के जिर्णोद्धार का शुभारंभ करने के साथ स्मार्ट सिटी प्रोजैक्ट के तहत सिलोखरा का विकास कराए जाने की घोषणा की। इसके पूर्व जिला उपायुक्त ने सिलोखरा के नागरिकों को लिखित पत्र देकर कहा कि 15 दिनों के अंदर विकास कार्य शुरु कर दिए जाएंगे।
सिलोखरा में विकास का शुभारंभ होने के बाद वहां के नागरिकों में खुशी की लहर देखी गई। नागरिकों ने डा. मुकेश शर्मा को बांहों में उठाकर खुशी का इजहार किया और विकास के इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए उन्हें कोटिश: धन्यवाद दिया। डा. मुकेश शर्मा ने कहा कि सिलोखरा के नागरिकों की जीत लोकतंत्र की जीत है। सिलोखरा सहित 360 गांवों की जनभावनाओं के समक्ष सरकार को झुकना पड़ा और भाजपा कार्यालय के शिलान्यास से पूर्व विकास का शुभांरभ हुआ। उन्होंने कहा कि सिलोखरा के नागरिकों का आंदोलन लोकतांत्रिक था। किसी भी गांव की पंचायती जमीन का प्रयोग गांव के विकास के लिए करना न्यायोचित है और इसी मांग को लेकर हम आंदोलन कर रहे थे। डा. शर्मा ने इस मांग के पूरा होने पर आंदोलन मेें सहयोग के लिए सिलोखरा के नागरिकों के साथ पूरे 360 गांवों के लोगों को दिल से धन्यवाद दिया और आश्वासन दिया कि अगर 360 गांवों में इस तरह की मांग को लेकर किसी तरह का आंदोलन होता है तो उसमें भी हम सिलोखरा के नागरिक पूर्ण सहयोग करेंगे। डा. शर्मा ने कहा कि सिलोखरा के विकास की मांग को लेकर पिछले सालभर से हो रहे आंदोलन के क्रम में दो-दो बार 360 गांवों की महापंचायत हुई। वहीं कई बार सिलोखरा के नागरिकों की भी पंचायत हुई। 360 गांवों की महापंचायत के दौरान ही मुख्यमंत्री ने एसडीएम को प्रतिनिधि के रुप में भेजकर मांग पत्र लिया था। इसके बाद कई बार गांव क मौजिज लोगों का प्रतिनिधिमंडल जिला उपायुक्त से भी मिला और इस लंबे संघर्ष के बाद सिलोखरा के विकास की जीत हो सकी।
विकास कार्यों के शुभारंभ अवसर पर 360 गांवों के प्रधान चौधररी महेन्द्र सिंह ठाकरान, 18 गांवों के प्रधान जगपाल जैलदार, धर्मवीर कटारिया बसई, ओमप्रकाश शर्मा सरपंच सिलोखरा, रामपत यादव, चंद्रभान सैनी, शेरा पंडित, सुंदर यादव, धर्मवीर शर्मा, अतर सिंह शर्मा, शुभम शर्मा, मनीष शर्मा, आशीष शर्मा, डा. मुकेश शर्मा की धर्मपत्नी ममता शर्मा, मंजू शर्मा पूर्व पंच, राजबाला शर्मा, सतीश कुमार, सूबे सिंह बोहरा, प्रवीन शर्मा एडवोकेट, वेदराम, रामपत यादव, नीलू यादव, अजीत सिंह, विजय पाल, सुभाष चंद्र, सोनू, पंकज, दीपक शर्मा, शेरु, धर्मवीर शर्मा, चंद्रभान सैनी, प्रवेश शर्मा, मदन शर्मा, श्रीपाल शर्मा, ईश्वर शर्मा, राजेश शर्मा, मोनू शर्मा, राधेश्याम शर्मा, देवीराम यादव, देवीराम शर्मा, राजेश शर्मा, शेर सिंह, नेतराम यादव, अशोक कुमार, सुंदर यादव, रणवीर यादव, रमेश शर्मा, मनीष शर्मा, सुभम शर्मा, देवीराम, अमर सिंह सैनी, दीपचंद शर्मा, सोमदत्त शर्मा, राजेन्द्र भारद्वाज, चरण सिंह, मीर सिंह सैनी, रामे सैनी, काले चौकीदार आदि काफी संख्या में नागरिक मौजूद रहे।
Tags

Related posts

*

*

Top