भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान अंजुम चोपड़ा और उसके पिता समेत 11 लोगों के खिलाफ फरीदाबाद कोर्ट ने जारी किया नोटिस ।

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma)  भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान अंजुम चोपड़ा और उसके पिता समेत 11 लोगों के खिलाफ फरीदाबाद कोर्ट ने अरावली क्षेत्र में 1500 गज विवादित जमीन के मामले में स्टे होने के बावजूद निर्माण करने पर नोटिस जारी किया है। जिसमें सात बड़े अधिकारियों को भी नोटिस जारी किया गया है। शिकायतकर्ता प्रेम कृष्ण आर्य द्वारा मामला दर्ज करने की अपील पर फरीदाबाद  कोर्ट के अतिरिक्त सेशन जज राजेश मल्होत्रा ने सभी को तलब किया है और आज 15 जून यानि कि आज शाम तक कोर्ट में पेश होने की सख्त चेतावनी दी है।

पिछले काफी दिनों से अरावली की पहाड़ी क्षेत्र के गांव अनंगपुर में 15 सौ गज जमीन को लेकर स्थानीय निवासी प्रेमकृष्ण आर्य और पूर्व महिला क्रिकेटर अंजुम चोपड़ा के बीच जमीन के मालिकाना हक को लेकर विवाद चल रहा है और यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है। अदालत ने पहले ही जमीन पर किसी भी तरह का निर्माण कार्य करने पर रोक लगाई हुई है। जमीन पर निर्माण कार्य न करने का स्टे होने के बावजूद भी अंजुम चोपड़ा और उसके परिवार द्वारा निर्माण कार्य करवाया गया, जिसकी शिकायत स्थानीय निवासी प्रेमकृष्ण आर्य ने कोर्ट में कर दी, जिसके बाद अंजुम चोपड़ा सहित उनके परिवार और कुछ अधिकारियों को कोर्ट ने अदालत के आदेशों की अवेहलना करने और स्टे आर्डर न मानने को लेकर नोटिस जारी कर दिया है। नोटिस में 15 जून यानी आज शाम तक अदालत में पेश होकर अपना पक्ष रखने को कहा गया है।
बता दें कि नोटिस फरीदाबाद के सात बडे अधिकारियों को भी जारी किया गया है जिसमें नेहा सहारन तहसीलदार फरीदाबाद, विकास सिंह तहसीलदार बडख़ल, हरीश कानूनगो राजस्व, प्रतीक मंगला पटवारी बडख़ल तहसील, भीमसिंह पुलिस अधिकारी , सूरजकुंड थाना, बलराम वन अधिकारी, और अफजल वन अधिकारी शामिल हैं। जिन्होंने खुद मौके पर जाकर कोर्ट के आदेशों की अवेहलना की और निर्माण कार्य को रोकने की बजह जारी करवाया।
Tags

Related posts

*

*

Top