पैर में मोच का इलाज करवाने गए व्यक्ति की डाक्टर की लापरवाही से मौत

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma) फरीदाबाद के भूपानी थाना क्षेत्र में गांव के डाक्टर द्वारा गलत इंजेक्शन लगाने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी. जिसके बाद वाल्मीकि समाज के सैकड़ो लोगो ने हंगामा खड़ा कर दिया। लोगो के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने धारा 304 के तहत मामला दर्ज करते हुए आरोपी डाक्टर को गिरफ्तार कर लिया है. मृतक के पोस्टमार्टम के दौरान सैकड़ो वाल्मीकि समाज के लोगो ने हंगामा करते हुए जमकर नारेबाजी की और आरोप लगाया की आरोपी डाक्टर को पुलिस ने कुर्सी पर बैठकर रखा और उसे खाना भी खिलाया जिसकी उन्होंने वीडियो भी बनायी। आरोप है की विरोध करने पर पुलिस और स्थानीय पार्षद ने उन्हें जातिसूचक शब्द कहे और आरोपी डाक्टर के साथ आरोपियों जैसा व्यवहार नहीं किया गया. परिजनों का कहना था की वह तब तक शव का दाहसंस्कार नहीं करेंगे जब तक दुर्व्यवहार करने वाले पुलिस अधिकारी और दोषी डाक्टर के खिलाफ सख्त कार्यवाही नहीं की जाती।

वहीँ गांववासियो और मृतक के बड़े भाई ने बताया की डाक्टर की लापरवाही से ही उनके भाई की मौत हुई है लेकिन पुलिस ने मिलीभगत करते हुए डाक्टर को कुर्सी पर बैठाया और उसे खाना भी खिलाया। उनका आरोप था की विरोध करने पर पुलिस और स्थानीय पार्षद ने उन्हें जातिसूचक शब्द कहे और आरोपी डाक्टर के साथ आरोपियों जैसा व्यवहार नहीं किया गया. परिजनों का कहना था की वह तब तक शव का दाहसंस्कार नहीं करेंगे जब तक दुर्व्यवहार करने वाले पुलिस अधिकारी और दोषी डाक्टर के खिलाफ सख्त कार्यवाही नहीं की जाती।  उन्होंने बताया की उन्होंने इस सारे मामले की वीडियो भी बनायी है जिसमे साफ़ दिखायी दे  रहा है की सिविल वर्दी में बैठे पुलिस कर्मी डाक्टर को कुर्सी पर बैठाकर खाना खिलवा रहे है.  

Tags

Related posts

*

*

Top