दलितों और स्त्रीशिक्षा के मसिहा क्रांतीकारी ज्योतीराव फूले को नमन किया

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma)  आज़ादी के शहज़ादे संस्था ने आज आधारशिला पब्लिक स्कूल सैक्टर 2 में महात्मा ज्योतीराव फूले की जंयती प्रधानाचार्या ऊषा शर्मा की अध्यक्षता में मनाई ।

संस्था के संस्थापक हरीश चन्द्र आज़ाद ने कहा कि महात्मा ज्यांतीराव फूले एक क्रांतीकारी तो थे ही लेकिन देश इन्हे दलितों और स्त्रीशिक्षा के मसिहा के नाम से जानता है । 1848 में उन्होने हिन्दुस्तान में प्रथम स्त्री शिक्षा विधालय खोला जिसके लिये उन्हें कोई अध्यापिका नही मिली तो उन्होने अपनी पत्नी सावित्री फूले को पढ़ाकर शिक्षिका बनाया ।

संस्था की राष्टृीय अध्यक्ष सीमा शर्मा ने कहा कि महिलाओं को शिक्षा देने का उनका बहुत विरोध हुआ इसके लिये गांव के लोगों ने उनके परिवार पर दबाब बनाकर पत्नी-पति को घर से निकलवा दिया था फिर भी उन्होने हि मत नही हारी और उसके बाद उन्होने महिलाओं की शिक्षा के लिये अनेक विधालय खोले ।

इस मौके पर प्रधानाचार्या ऊषा शर्मा , वैभव शर्मा , तिलकराज शर्मा , साक्षी , वैशाली , साधना , बब्ली , निधी , पायल , लशिका , सूरज आदि ने उन्हे नमन किया ।

Tags

Related posts

*

*

Top