केंद्रीय मंत्री की सुनामी में स्वयंभू मेयर पार्षद का उड़ा कार्यालय का होर्डिंग बोर्ड !

हाल ही में कृषणपाल गुर्जर ने रिकॉर्ड मतों से जीत कर बड़ो बड़ो की बोलती बंद कर दी और केंद्र में मंत्री पद पर भी मिला। ये जीत इतनी बड़ी थी कि जो इनके विरोधी गुट के सदस्य रहे है उन्हें ना तो नींद आ रही है और ना ही चैन पड़ रहा है और हो भी क्यों न , क्योकि ये वही स्वयंभू मेयर पार्षद है जिसने प्रशाशन की कार्यवाही को धत्ता बताते हुए में मास्टर रोड पर अवैध रूप से दुकाने बनायी बल्कि जब भी इन पर कार्यवाही की बात होती तो ये छोटे मंत्री जी की धौंस दिखा कर उसको रुकवा देते। लेकिन गुर्जर समर्थको ने भी ऐसे लोगो की लिस्ट बना रखी है जिन्होंने चुनाव के समय कृषणपाल गुर्जर का विरोध किया और उनके खिलाफ पार्टी विरोधी गतिविधियों में हिस्सा लिया ये स्वयंभू मेयर पार्षद तो उस समय थाईलैंड की सैर पर निकल गए और जैसे ही चुनाव के नतीजे आये तो फेसबुक पर कृषणपाल जी के चुनाव में सहयोग के लिए लोगो का धन्यवाद् कर दिया। जिसके बाद इनकी जो खिचाई लोगो ने की वो सबको पता है।
कृष्णपाल गुर्जर के डर के कारण स्वयंभू मेयर पार्षद ने अपने कार्यालय से भारतीय जनता पार्टी का बोर्ड तक हटा दिया , क्योकि इसको भनक लग गयी की कृष्णपाल जी चुनाव जितने के तुरंत बाद उसके इस अवैध निर्माण पर कार्यवाही करवाएंगे । इसलिए इसने लोगो में ये फैला दिया की उसने ये अवैध निर्माण बेच दिया। अब देखना ये है ईमानदार सरकार की बात करने वाली मनोहर सरकार ऐसे छुटभैये नेताओ पर क्या कारवाही करेगी जिन्होंने पार्टी विरोधी गतिविधियों के साथ साथ करोडो का राजस्व का नुक्सान पहुँचाया हो। ये स्वयंभू मेयर पार्षद छोटे मंत्री जी की धौंस देकर इसने जो निर्माण खड़ा किया है इसके बारे में शायद छोटे मंत्री जी को भी नहीं पता , अब देखना ये होगा की इस पर छोटे मंत्री जी चाबुक चलाते है या ईमानदारी और सच्चाई का दम भरने वाली मनोहर सरकार ‘

क्रमश :

Tags

Related posts

*

*

Top