राष्ट्रीय articles

गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किए गए 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड

गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किए गए 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma) मानवीय निर्माण मंच द्वारा रविवार को सेक्टर 12 स्थित टाउन पार्क में लगे ऊंचे तिरंगे के नीचे योग विश्व कीर्तिमान स्थानीय करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान पलवल के चार विद्यार्थियों ने योग के क्षेत्र में नए रिकॉर्ड बना कर देश व विदेश में अपना नाम रोशन

धुआं रहित तम्बाकू दिल की बीमारी का बड़ा कारण, विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2018 पर विशेष

नई दिल्ली: (zeeharyana.com/SunitaSharma)  दुनिया भर में आज का दिन (31मई) विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रुप में मनाया जा रहा है, और   इसी 24 घंटे के दौरान देशभर में करीब 2739 लोग तंबाकू वअन्य धूम्रपान उत्पादों के कारण कैंसर व इससे होने वाली बीमारियों से दम तोड़ देंगे। इसकी रोकथाम के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने तंबाकू व अन्य धूम्रपानउत्पादों से होने वाली बीमारियों  और मौतों की  रोकथाम को ध्यान में रखकर इस वर्ष 2018 का  थीम ‘‘ टोबेको और कार्डियेावैस्कूलर डिजिज (तंबाकू और हृद्वय रोग ) ’’ रखा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और सहयोगी लोगों को तंबाकू और कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों के बीच के संबंध के बारे में जागरूक  करेंगे, जिसमें हृद्याघात (स्ट्रोक)  भीशामिल है, जो दुनिया के मौत का प्रमुख कारण है। तंबाकू के उपयोग को रोगों के अंतर्राष्ट्रीय वर्गीकरण (आईसीडी -10) के तहत बीमारी के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इसकी लत को छोड़ने की दर बहुतकम है। भारत में तंबाकू सेवन की लत को छोड़ने की दर केवल 3 प्रतिशत ही है। इस लत को छोड़ने की इतनी कम संभावना और तम्बाकू के उपयोग की इतनी अधिक आशंका केकारण बीमारियां बढ़ती है। तम्बाकू और इसके सेवन के प्रसार को सही ही तंबाकू महामारी कहा गया है। विशेषज्ञों ने आम लोगों में सामान्य रूप से प्रचलित  धुएं रहित या चबाने वाला तम्बाकू, सिगरेट और बिड़ी से सुरक्षित है और इससे  दिल की बीमारी नहीं होती की इस धारणा कोभ्रामक और गलत बताया है। विशेषज्ञों के मुताबिक, किसी भी रूप में तंबाकू का सेवन  स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। धूम्रपान या चबाने के रूप में तंबाकू का उपयोग कैंसर,हृदय रोग और अन्य गंभीर बीमारियों का कारण बनता है। वायस ऑफ टोबेको विक्टिमस के पैट्रन (वीओटीवी) व ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) दिल्ली के प्रोफेसर और कार्डियक थोरैसिक और वेस्कुलर सर्जरी केप्रमुख डॉ. शिव चौधरी ने कहा, तंबाकू दुनिया में कार्डियो-वेस्कुलर मौत और अक्षमता का सबसे ज्यादा ज्ञात और रोकथाम योग्य कारण है। निकोटीन जैसे रसायन प्रकृति मेंसंक्रामक होते हैं जिससे कोरोनरी समस्याएं होती हैं। यह सर्वविदित है कि धूम्रपान हृदय रोग का खतरा बढ़ता है लेकिन तथ्य यह है कि तंबाकू के धुएं रहित रूप समान रूप सेहानिकारक हैं। ग्लोबल एडल्ट तंबाकू सर्वेक्षण (जीएटीएस -2) 2016-17 के अनुसार, भारत में धुआं रहित तंबाकू का सेवन धूम्रपान तम्बाकू से कहीं अधिक है। वर्तमान में 42.4 प्रतिशत पुरुष, 14.2 प्रतिशत महिलाएं और सभी वयस्कों में 28.6 प्रतिशत धूम्रपान करते हैं या फिर धुआं रहित तम्बाकू का उपयोग करते हैं। आंकड़ों के मुताबिक इस समय 19 प्रतिशत पुरुष, 2 प्रतिशत महिलाएं और 10.7 प्रतिशत वयस्क धूम्रपान करते हैं, जबकि 29 .6 प्रतिशत पुरुष, 12.8 प्रतिशत महिलाएं और 21.4 प्रतिशत वयस्क धुआं रहित तंबाकू का उपयोगकरते हैं। 19.9 करोड़ लोग धुआं रहित तंबाकू का उपयोग करते हैं जिनकी संख्या सिगरेट या बिड़ी का उपयोग करने वाले 10 करोड़ लोगों से कहीं अधिक हैं। सबसे चिंताजनक हैकि प्रतिवर्ष देशभर में 10 लाख लोग इससे दम तोड़ रहे है। वंही देशभर में 5500 बच्चे हर दिन तंबाकू सेवन की शुरुआत कर रहें है और वयस्क होने की आयु से पहले ही तम्बाकूके आदी हो जाते हैं। टाटा मेमोरियल अस्पताल, मुंबई के प्रोफेसर और सर्जिकल ओन्कोलॉजी डॉ. पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि किसी भी रूप में तम्बाकू का सेवन  शरीर के किसी भी हिस्से को इसकेहानिकारक प्रभाव से नहीं बचाती। यहां तक कि धुआं रहित तंबाकू प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूपों में भी इसी तरह के दुष्प्रभाव का कारण बनता है। हमारे शरीर के अंगों को सीधेनुकसान पहुंचाने के अलावा, धुआं रहित तम्बाकू का उपभोग करने वाले लोगों में दिल के दौरे के बाद मृत्यु दर में काफी वृद्धि करता है। तम्बाकू के सभी उत्पादों और रूपों से आने वाले राजस्व की तुलना में सरकार के साथ-साथ समाज का तम्बाकू जनित बीमारियों की रोकथाम और उपचार पर होने वाला स्वास्थ्यपर खर्च कई गुना अधिक है। संबंध हेल्थ फाउंडेशन (एसएचएफ) के ट्रस्टी संजय सेठ ने कहा कि अनुमान है कि सभी कार्डियोवेस्कुलर (सीवी) रोग का लगभग 10  प्रतिशत का कारण तम्बाकू का उपयोग है।भारत में सीवी रोग की बड़ी संख्या को देखते हुए, इसका दुष्प्रभाव बहुत अधिक है। उन्होंने कहा कि जब सरकारें स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं की स्थापना के लिए बड़े पैमाने परबजट खर्च कर रही हैं, उन्हें रोकथाम की  रणनीतियों पर अधिक ध्यान देना चाहिए, जिनमें तम्बाकू उपयोग में कमी करना प्रमुख है। आज तम्बाकू निषेध दिवस पर हम सबको तंबाकू उत्पादों को अलविदा कहने का संकल्प लेना चाहिए ताकि आने वाले समय में हम इन आंकड़ेां को बदल पाये। अधिक जानकारी के लिए, कृपया संपर्क करें संजय सेठ ़ 91-9810311605

अन्तर्राष्ट्रीय समरसता मंच एवं इन्डो-नेपाल समरसता ऑर्गेनाइजेशन के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम

अन्तर्राष्ट्रीय समरसता मंच एवं इन्डो–नेपाल समरसता ऑर्गेनाइजेशन के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित, अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक सम्मलेन एवं रात्रिभोज कार्यक्रम “सांस्कृतिकविविधिता में एकता” विषय पर चर्चा करते हुए नेपाल सरकार के प्रथम उपराष्ट्रपति महोदय एवं विभिन्न राष्ट्रों के प्रतिनिधियों के संग द इंडियन सोसाइटी ऑफ़ इंटरनेशनललॉ, नई दिल्ली  में 1 मई 2018 (श्रमिक दिवस) को कार्यक्रम का आयोजन किया गया | कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य भारत परिपेक्ष्य में “समरसता मिशन” | भारत – नेपाल की वैदिक कालीन का पुर्नउत्थान हो,  भारत पुनः वैदिक कालीन जगतगुरु के आसान परपद स्थापित हो एवं 8वा सबसे ताकतवर भारत को सुरक्षा परिषद् में वीटो पावर के साथ स्थाई सदस्यता प्राप्त हो | संरक्षक न्यायमूर्ति श्री परमानद झा जी प्रथम उपराष्ट्रपति नेपाल सरकार, श्री मुरली मनोहर जोशी जी पूर्व मंत्री भारत सरकार, महावीर प्रसाद टोरडी अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक व् श्री कुलदीप शर्मा जी एडवोकेट ने रमणीक प्रभाकर महासचिव मैन्युफेक्चरर्स एसोसिएशन फरीदाबाद को “कर्म श्री अवार्ड” से सम्मानित किया | श्री मुरली मनोहर जोशी जी पूर्व मंत्री भारत सरकार ने अपने वक्तव्य में रमणीक प्रभाकर की सरहाना करते हुए कहा कि विश्व की सांस्कृतिक एवं सामाजिक व्यवस्था काभारतीय सांस्कृतिक एवं सामाजिक हेतु अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक समन्वय संगोष्टी में भारत नेपाल के बहुआयामी सम्बन्धो, मानवीय प्रेम एवं एकता के प्रतीक आपकी सेवाओंका मूल्यांकन करते हुए आपके द्वारा जो सेवा एवं सहयोग प्रदान किया गया वह प्रशंसनीय है | हम आपकी राष्ट्रीय सेवा भावना का आदर करते है और मंच उज्जवलभविष्य की कामना करते है | कार्यक्रम में उपस्थित संरक्षक न्यायमूर्ति श्री परमानद झा जी प्रथम उपराष्ट्रपति नेपाल सरकार, मुख्य अतिथि श्री मुरली मनोहर जोशी जी पूर्व मंत्री महोदय भारत सरकार नईदिल्ली, डा. जी. वी. कृष्णामूर्ति पूर्व चुनाव आयुक्त भारत सरकार नई दिल्ली, श्री महावीर प्रसाद टोरडी जी अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक, श्री कुलदीप शर्मा जी एडवोकेट व् अनेकगणमान्य, प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया |

कॉमन वेल्थ खेलों में मानव रचना के छात्रों का डंका

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma)  मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के छात्रों ने कॉमन वेल्थ खेलों में जीत का परचम लहराकर पूरे विश्व में नाम रोशन किया है। फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज में एमबीए की छात्रा श्रेयसी सिंह ने स्वर्ण और छात्र अंकुर मित्तल ने कांस्य पदक जीता है। श्रेयसी सिंह ने ऑस्ट्रेलियाई शूटर एम्मा कॉक्स को मात देते

नाबालिग से दुष्कर्म पर सजाए मौत के फैसले पर महिलाओ और बच्चियों किया मनोहर सरकार का धन्यवाद !

फरीदाबाद : (zeeharyana.com/Sunita Sharma) विधानसभा में केबिनेट द्वारा लिए गए 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ होने वाले दुष्कर्म के मामले में फैसले को फरीदाबाद की महिलाओ व बच्चियों ने जमकर सराहा। महिलाओ ने कहा की हरियाणा सरकार ने दरिंदो के लिए जो फैसला लिया है वो महिलाओ की सुरक्षा के लिए

विदेशी लगा रहे हरियाणवी गानों पर ठुमके

सूरजकुण्ड (फरीदाबाद) – (zeeharyana,com/Sunita Sharma) हरियाणा के जिला फरीदाबाद के सूरजकुंड में चल रहे 32वें अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुंड षिल्प मेला के 5वें दिन चैपाल पर हरियाणवी-कंबोडिया संस्कृति की कला का संगम देखने को मिला। सूरजकुंड मेला की मुख्य चैपाल पर कंबोडिया की पैनी ने हरियाणवी गाने  पर कलाकारों के साथ जमकर ठुमके लगाए, जिस पर दर्षकों

सूरजकुंड शिल्प मेले में पधारे विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव जयंत खोबरागडे

सूरजकुण्ड (फरीदाबाद)- (zeeharyana.com/Sunita Sharma) अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सूरजकुंड षिल्प मेला कला एवं संस्कृति का संगम है। जहां राष्ट्रीय व अंर्राष्ट्रीय स्तर की विधाओं व लोक संस्कृतियों को अपनी कला का प्रदर्शन करने का मंच प्राप्त होता है।         यह विचार सूरजकुंड षिल्प मेले की सांय संध्या में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य

Anti-common man Budget, says Kiran Choudhry

Chandigarh : (zeeharyana.com/Sunita Sharma)  Kiran Choudhry, Leader of the Haryana Congress Legislature Party, has branded the lacklustre Union Budget for 2018-19, presented to Parliament by the Finance Minister, Arun Jaitley, today as anti-common man and anti-farmer which has failed to give the economy and job creation the desired push and direction. People’s hopes have been dashed

Top