रोटरी में डिस्टिक गवर्नर के पद की लालसा में फरीदाबाद के भाईचारे में आग लगाने पर तुला है अनूप मित्तल

 

zeeharyana.com/Narender Sharma: फरीदाबाद एक ऐसा उद्योगिक क्षेत्र है जहाँ के लोगो में भाईचारा इतना है कि किसी के सुख दुःख में साथ खड़े दिखाई देते है। जाती धर्म से ऊपर उठ कर दोस्ती और आपसी नाटो पर चल रहा है फरीदाबाद। इसी कारण अलग अलग उद्योग, उद्योगिक संस्थाए , रोटरी क्लब और लायंस क्लब में मेंबर होने के बाद भी सब लोग मिलकर फरीदाबाद की तरक्की और समाजसेवा के कार्यो में डटे हुए है।
मगर हाल ही में अपनी ओछी हरकतों से बाज़ न आने वाले एक ऐसे रोटेरियन अनूप मित्तल ने फरीदाबाद के भाईचारे में आग लगाने का काम किया है। रोटरी 3011 के गवर्नर पद के उम्मीदवार अनूप मित्तल को जब पता चला की उसकी फरीदाबाद में दाल नहीं गलने वाली तो उसने फरीदाबाद के भीष्मपितामह और फरीदाबाद की सबसे बड़ी उद्योगिक संस्था के प्रमुख का नाम भी घसीटना शुरू कर दिया। ये वो लोग है जिनका सम्मान पूरा उद्योग जगत के साथ साथ समाज के सब लोग करते है।
अपने पिछले कार्यो से मुह की खाने वाले अनूप मित्तल को हालांकि फरीदाबाद के लोगो ने अपनी एकता का एहसास करा दिया है लेकिन पैसे के दम पर वो इस सामजिक पद को पाना चाहता है। प्राप्त जानकारी और पुराने प्रधानों के अनुसार जिस रोटेरियन को क्लब से निष्कासन मिल चूका हो क्या वो इतने बड़े पद के लायक भी है। जो अपने क्लब में अपनी अनुशाशनात्मक कार्यवाही के कारण निष्काषित हो चुके हो वो क्या मिसाल देंगे डिस्टिक के 70 क्लब्स को।
अब देखना ये है कि फरीदाबाद के रोटेरियंस कैसे अपनी एकता दिखा कर ऐसे लोगो को बहार का रास्ता दिखाएँगे जो रोटरी के आलावा फरीदाबाद के लोगो के भाईचारे के लिए खतरा बन रहा हो।
इस खबर को लेकर जब हमने अनूप मित्तल से बात करनी चाहि तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।
जब इस खबर को लेकर हमारी शहर के प्रमुख रोटेरियंस से बात बात हुयी तो उन्होंने बताया की पहले का तो पता नहीं लेकिन अब पूरा फरीदाबाद उसके खिलाफ है और हम किसी एक परिवार है और ऐसी में हमारी एकता है।

*

*

Top