हानिकारक प्रदूषण से त्वचा को बचाएं

दिवाली के मौके पर बड़ी मात्रा में बम-पटाखे छोड़े जाते हैं। इनसे निकलने वाले धुएं में मौजूद हानिकारक गैस और काॅपर, लेड, कैडमियम, जिंक, सोडियम, पोटैशियम, मैंगनीज जैसे भारी तत्वों के छोटे-छोटे कण हवा में घुलकर उसे जहरीला बना देते हैं। इस जहरीली गैस में सांस लेने से न केवल अस्थमा के मरीजों को परेशानी होती है, बल्कि इसका हमारी त्वचा पर भी बहुत ज्यादा नकारात्मक असर देखने को मिलता है। हवा में मौजूद हानिकारक रसायन और गैस के कारण त्वचा बेहद रूखी हो जाती है। इतना ही नहीं, इस वजह से एग्जिमा जैसी स्किन एलर्जी भी हो जाती है।
सर्दियों में आमतौर पर त्वचा में रूखापन देखने को मिलता है। लेकिन दीवाली के मौके पर त्योहार की आड़ में होने वाला प्रदूषण शरीर की बाहरी सतह की चमक खत्म कर देता है। इसके कुछ समय बाद शरीर के इन खुले अंगों पर एलर्जी होने लगती है। महिलाओं और बच्चों की स्किन सेंसीटिव होने के कारण उन्हें सबसे ज्यादा परेशानी होती है। एलर्जी के कारण कई बार चेहरा, हाथ.पैरों पर नाखूनों के इस्तेमाल से भद्दे निशान पड़ जाते है। जो जल्दी से जा नहीं पाते।
जीवा आयुर्वेद के निर्देशक आयुर्वेदाचार्य डाॅ प्रताप चैहान के द्वारा बताए उपचार
हल्दी आंवला और नीम की पत्तियों के बराबर मात्रा में मिलाकर एक पाउडर तैयार करें। इस पाउडर का एक चम्मच पानी के साथ एक दिन में दो बार लिया जा सकता है। यदि आंवला और नीम उपलब्ध नहीं हैं, केवल हल्दी पाउडर आधा चम्मच की मात्रा में दो बार पानी के साथ एक दिन में इस्तेमाल किया जा सकता है।
नीम के पत्तों उपलब्ध हैं, तो उन्हें हर रोज पानी में उबाल लें और प्रभावित क्षेत्र धो लें। साबुन और शैंपू के इस्तेमाल से परहेज करें।
पीले सल्फर का 50 ग्राम पाउडर लें और इसे 250 मिलीलीटर सरसों या नारियल के तेल के साथ मिलायें। हर रोज सुबह के समय इसे प्रभावित क्षेत्र पर अप्लाई करें और आधे घंटे के बाद धो लें। इसके इस्तेमाल से आपकी त्वचा को धूप से कोई नुकसान नहीं होगा।
आगामी 10 तारीख से शादियों का सीजन शुरू होने जा रहा है। ऐसे में महिलाओं के लिए यह त्वचा से संबंधित गंभीर समस्या बन गई है। ऐसे में ये जानना जरूरी बन जाता है कि क्या कुछ ब्यूटी टिप्स अपनाने से भी प्रदूषण से होने वाली त्वचा संबंधी समस्याओं से राहत मिल सकती है।
7 शेड्स बाय पुनीति से ब्यूटी एक्पर्ट पुनीति चैधरी रावत से बातचीत के अंश
-प्रदूषण के कारण पिग्मेंटेशन और एजिंग की समस्या बढ़ जाती है।
-स्किन का लचीलापन खत्म होने लगता है।
-इससे निजात पाने के लिए रेगुलर फेशियल करा सकते हैं।
-बेहतर रिजल्टस के लिए सनस्क्रीन क्रीम या लोशन का इस्तेमाल करें।
-इसके अलावा फलों का सेवन करें क्योंकि फलों में बहुत ज्यादा एंटीऑक्सीडेंटस पाया जाता है। यह हमारी त्वचा को बेजान होने से बचाता है।
-लेकिन स्किन संबंधी ज्यादा परेशानी होने पर त्वचा विशेषज्ञ की सलाह लेना बेहतर होगा।
Tags

Related posts

*

*

Top