रोटरी जैसे सोशल प्लेटफार्म को अपने लालच के लिए बदनाम कर रहा है अनूप मित्तल

रोटरी डिस्ट्रिक्ट 3011के रोटरी वर्ष 2019-20 के गवर्नर के चुनाव का वातावरण दिन प्रतिदिन रोमांचक मोड़ लेता जा रहा है। गौरतलब है कि 2019-20 के गवर्नर पद हेतु आधा दर्जन उम्मीदवार मैदान में है और सभी जीत हासिल करने के लिए अपनी अपनी तिकड़म भिड़ाने में जुटे हैं।
डिस्ट्रिक्ट 3011 के लगभग 70 क्लबों में से 17 क्लब अकेले फरीदाबाद क्षेत्र में ही हैं और चुनावों में फरीदाबाद की एकजुटता किसी से छुपी नहीं है यहाँ से सदैव किसी एक प्रत्याशी को ही एकमत समर्थन दिया जाता रहा है और इस बार भी ऐसा ही होने में कोई अतिश्योक्ति नहीं दिख रही है

अभी अचानक से इस चुनाव में एक रोमांचक मोड़ आ गया है, सूत्रों से पता चला है कि रोटरी गवर्नर चुनाव को लेकर जहाँ एक ओर फरीदाबाद के 2018-19 के गवर्नर नॉमिनी विनय भाटिया की प्रतिष्ठा को धूमिल करने का प्रयास किया है वहीँ गवर्नर पद के सर्वाधिक तिकड़मबाज प्रत्याशी अनूप मित्तल की कारगुज़ारी को गलत ढंग से प्रकाशित किया है। अभी कुछ दिनों पहले फरीदाबाद के एक पांचसितारा होटल में हुयी पार्टी को भी फरीदाबाद के प्रधानों द्वारा आयोजित किया जाना बताया गया है जबकि वह पार्टी स्वयं अनूप मित्तल ने सभी प्रधानों को प्रभाव में लेने हेतु स्वयं दी गयी थी और स्वयं अनूप मित्तल ने सभी प्रधानों व् उनकी पत्नी श्रुति मित्तल द्वारा उनकी पत्नियों को फोन करके निमंत्रित किया गया था। अपने निजी संबंधों के प्रभाव से अनूप मित्तल ने ये लेख प्रकाशित करवाकर निश्चित रूप से अपना हित साधने की कोशिश की है। इस लेख के बाद से ही फरीदाबाद के समस्त प्रधान बुरी तरह भड़के हुए हैं और अनूप मित्तल को इसका मजा चखाने का मन बना चुके हैं। उनका मानना है जो व्यक्ति पदासीन होने से पूर्व ही इस प्रकार षड़यंत्र रच सकता है और मिथ्या सूचना प्रकाशित करवा सकता है वह रोटरी जैसी मानवता की सेवा संस्था के उच्च पद पर तो क्या एक सदस्य होने के भी काबिल नहीं है। अनूप मित्तल द्वारा फरीदाबाद की पार्टी के बाद दिल्ली व् आस पास के कुछ अन्य क्लब प्रधानों को पार्टी देकर रिझाने का प्रयास किया गया है।
ग़ौरतलब है कि रोटरी चुनावों में इस प्रकार के प्रलोभनों पर पूरी तरह प्रतिबन्ध है इसी के चलते फरीदाबाद के सभी प्रधान एक साथ उच्च नेतृत्व को अनूप मित्तल की शिकायत भी करने का मन बना चुके हैं। उल्लेखनीय ये भी है सभी गवर्नर पद प्रत्याशियों में अनूप मित्तल एकमात्र ऐसे प्रत्याशी हैं जिन्हें उनके अमर्यादित व् गैर अनुशासित आचरण के कारण क्लब से निष्काषित किया जा चुका है। अब देखना ये है कि अनूप मित्तल अपने ही बुने जाल से मिलने वाले ज़ख्मों से कैसे बच पाएंगे।
फरीदाबाद के समस्त रोटरी क्लबों के प्रधानों द्वारा एक स्वर से ये कहा है कि उनका वोट एक ही प्रत्यासी के समर्थन में होगा और वह भी उसकी अपनी योग्यता के अनुसार निर्धारित होगा ना की किसी प्रभाव वश। और पुनः अगर किसी भी प्रत्याशी के द्वारा फरीदाबाद की छवि धूमिल करने का प्रयास किया तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। हम सदैव सौहार्दपूर्ण वातावरण के पक्ष में हैं और रोटरी की मर्यादा का मूल्य समझते हैं।

*

*

Top