मीडिया में कॅरियर बनाने के लिए भाषाई कौशल का विकास आवश्यक : प्रो. चौहान

फरीदाबाद, (मोहित कुमार)। मीडिया में कॅरियर बनाने के इच्छुक विद्यार्थियों का हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में पारंगत होना बहुत आवश्यक है। इसके लिए प्रतिदिन स्वाध्याय और अभ्यास की आवश्यकता है। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और शिक्षाविद प्रो. वीरेन्द्र सिंह चौहान ने यहां वाईएमसीए विश्वविद्यालय में मीडिया के विद्यार्थियों के साथ एक संवाद में यह टिप्पणी की। प्रो. चौहान ने इस अवसर पर हालिया करंसी सुधार उपायों से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक, अमरीकी राष्ट्रपति चुनावों और जम्मू क श्मीर की संवैधानिक और कानूनी स्थिति आदि अनेक समसामयिक विषयों पर विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया और उनके सवालों के जवाब दिए।
प्रो. चौहान ने कहा कि मीडिया की वर्तमान समाज जीवन में महत्ता और प्रभाव दिनोंदिन बढ़ रहा है। इसलिए आवश्यक है कि अपने जीवन में देश और समाज को सर्वोच्च अहमियत देने वाले नौजवान इस क्षेत्र में अधिक से अधिक संख्या में आएं। कार्यक्रम में प्र्रो. चौहान ने विद्यार्थियों को ग्रामोदय अभियान के इंटरनेट उपक्रम रेडियो ग्रामोदय के साथ जुडऩे का निमंत्रण दिया। साथ ही उन्होंने विद्यार्थियों को नियमित ब्लाग लिखने की भी प्रेरणा दी। कार्यक्रम से पूर्व हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष प्रो. वीरेन्द्र सिंह चौहान और अकादमी के नामित सदस्य वेद प्रकाश व्यथित ने कुलपति डा. दिनेश कुमार के साथ विश्वविद्यालय स्तरीय पुस्तकों के लेखन और अकादमी की पुस्तकें विवि के पुस्तकालय में उपलब्ध कराए जाने के संबंध में विमर्श किया।
Tags

Related posts

*

*

Top